यौन उत्पीड़न आरोप लगाने वाली ।

Spread the love

श्रमिक मंत्र : संजय कुमार पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली बीजेपी की महिला कर्मचारी थी। आरोप लगे तो बीजेपी संजय कुमार को बचाने की जुगत भिड़ाने लगी। महिला कर्मचारी को संरक्षण देने, उसकी मदद करने की बजाय बीजेपी ने उसे पार्टी कार्यालय से ही बाहर निकाल दिया। संजय कुमार के खिलाफ एफआईआर भी एक महीने बाद दर्ज हो सकी। संजय कुमार पर लगे आरोपों को कमजोर करने के लिए पुलिस पर भी दबाव डाला गया, जिसके बाद संजय कुमार पर लगी बलात्कार की धारा हटा ली गई। अब संजय कुमार कोहरियाणा विधानसभा चुनाव का प्रदेश संयोजक बनाकर बीजेपी में उनकी बैक डोर एंट्री कराई जा रही है। इस मामले को लेकर जब बीजेपी पदाधिकारियों से सवाल पूछे गए तो उनसे जवाब देते नहीं बना। सांसद अजय भट्ट ने भी इस विषय में कोई जानकारी ना होने की बात कही। बीजेपी की महिला कर्मचारी के यौन शोषण के आरोपी संजय कुमार को जब पार्टी में ही रखना था तो फिर निष्कासन का नाटक ही क्यों किया, ये सवाल हर किसी के मन में है।  सूत्रों के मुताबिक उन्हेंहरियाणा के विधानसभा चुनाव  के प्रदेश संयोजकों में की लिस्ट में जगह मिली है। इस लिस्ट में संजय कुमार का नाम भी दर्ज है। संजय कुमार के नाम के आगे उनका फोन नंबर भी दर्ज है। तो सवाल ये ही है कि क्या ये वही संजय कुमार हैं, जिन्हें प्रदेश महामंत्री संगठन पद से हटा दिया गया था। अगर ऐसा है तो ऐसा हुआ क्यों ? अब संजय कुमार की बैकड्रॉप एंट्री पर सवाल उठ रहे हैं, उठने भी चाहिए। संजय कुमार पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगे थे। मामला कोर्ट में लंबित है, ऐसे में सवाल ये है कि इन्हें बीजेपी में कैसे वापस ले लिया गया।    

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *