सीएम को सीएम की नसीहत।

Spread the love

तीन महीने बाद पता चलेगा,सीएम को सीएम की नसीहत।सूबे के मुखिया त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कल के पीएम मोदी सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों  वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सम्बोधित किया। सीएम रावत ने बताया कि मननीय प्रधान मंत्री ने दूर दृष्टिगत सभी संभावनाओं को ध्यान देने की जरुरत है। मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि हमें सामाजिक डिस्टेंस को बनाने की जरुरत है। और इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही न करें जिससे कि हमारी जान को खतरा हो सकें। वही मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि लॉक डाउन का समय को घटाने यानि कम किये जाने को लेकर भी लोगों के लगातार सुझाव आ रहे हैं। जिसपर अभी सरकार कोई भी जल्दीबाज़ी में फैशला लेने की स्थिति में नहीं है। पहले इनपर चर्चा किये जाएंगे जिसके बाद ही समय घटाने को लेकर कोई भी फैशला लिया जाएगा। लेकिन सबसे हैरानी की बात तो यह है कि जहां एक ओर सूबे के मुखिया त्रिवेंद्र सिंह रावत लोगो को सामाजिक दूरी बनाने के लिए जागरूक करते दिखाई दे रहे है। तो वही उनके ही करीबी,सक्षम व दुसरो को नसीहत देने वाले लोग ही त्रिवेंद्र सरकार की डिस्टेंस यानि सामाजिक दुरी बनाने की जागरूकता संदेश संदेश को  पलीता लगाते दिखायी  दे रहे हैं। ऐसे ही एक बानगी देखने को मिला है देहरादून के प्रथम नागरिक कहे जाने वाले मेयर सुनील उनियाल गामा व राजपुर विधायक ख़ज़ान दास का। यह लोग खुद तो लोगों को सामाजिक दुरी बनाने की  नसीहत देते नज़र आते है । लेकिन यह खुद भूल गए कि जो सामजिक दूरी बनाने का संदेश दे रहे है.लेकिन आप खुद भी पीएम की बातो को फोलो नहीं बल्कि उल्लंघन कर रहे है। ऐसी ही एक फोटो वायरल हुआ है जिसमे मेयर व राजपुर विधायक के क्षेत्र चुक्खुवाला वार्ड 17 मे बनायी गयी मोदी किचन का यह जीता जागता सबूत,जो कि काफी है सोशल डिस्टेंस का उल्लंघन करने वाले नेता व कार्यकर्ताओं के लिए। अब भला इन्हे कौन जागरूक करेगा,प्रदेश की सरकार या फिर पीएम नरेंद्र मोदी। जब ऐसे ही हर कोई  एक दूसरे को लोग जुबानी  नसीहत दे रहे है। तो ऐसे में भला पूर्व सीएम हरीश रावत कहां पीछे रहने वाले थे। जब समझने और समझाने का दौड़ चल रहा है तो। हरीश रावत ने मौजूदा त्रिवेंद्र सरकार को तीन सुझाव दे डाले। इतना ही नहीं पूर्व सीएम ने दबे स्वरों में धमकी भी दे डाली कि यदि त्रिवेंद्र सरकार मेरी सुझाव नहीं मानी,तो इसका एहसास उन्हें तीन महीने बाद होगा। आईये हम दिखाते है आखिर वो क्या है हरदा के तीन सुझाव।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *