आश्रितों को मुआवजा,रोजगार की मांग।  

Spread the love

मां ने बेटी से वादा किया था कि वो जंगल से लौटने पर उसके लिए पूरी-पकौड़ी बनाएगी, लेकिन जन्मदिन के दिन ही तान्या के सिर से मां का साया उठ गया। मीनाक्षी का पति हरीश बेरोजगार है, परिवार चलाने की जिम्मेदारी मीनाक्षी पर ही थी। वो गाय का दूध बेचकर किसी तरह परिवार का खर्चा उठा रही थी। महिला की मौत के बाद गुस्साए लोगों ने खंडाह में पौड़ी-श्रीनगर हाईवे पर जाम लगा दिया। लोगों ने गुलदार को आदमखोर घोषित करने की मांग की। बाद में रेंजर अनिल भट्ट ने लोगों को उचित कार्रवाई का लिखित आश्वासन दिया, तब कहीं जाकर लोग रास्ते से हटे। मीनाक्षी की बेटी बीएससी कर रही है, जबकि बेटा पॉलीटेक्निक कर रहा है। ग्रामीणों ने डीएफओ को ज्ञापन देकर मृतक के आश्रितों को उचित मुआवजा और रोजगार देने की मांग की।   पौड़ी के श्रीनगर में गुलदार ने जंगल में घास लेने गई महिला को मार डाला। गुलदार महिला को खींचकर जंगल में ले गया, बाद में उसकी अधखाई लाश मिली। घटना के बाद गुस्साए लोगों ने पौड़ी-श्रीनगर रोड पर जाम लगा दिया। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने लोगों को समझा-बुझाकर किसी तरह जाम खुलवाया। घटना धोबीघाट के ऊपर स्थित करेंखाल, बछेली की है, जहां 40 वर्षीय मीनाक्षी नौटियाल जंगल में घास लेने गई हुई थी। साथ में गांव की दूसरी महिलाएं भी थीं। तभी घात लगाए गुलदार ने मीनाक्षी पर हमला कर दिया। मीनाक्षी के साथ गई महिलाएं तो किसी तरह जान बचाकर भाग निकलीं, लेकिन मीनाक्षी को गुलदार उठा ले गया। मीनाक्षी भक्तियाना की रहने वाली थी। बुधवार को जिस दिन ये दर्दनाक घटना हुई, उसी दिन मीनाक्षी की बेटी तान्या का जन्मदिन था।     

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *