लक्ष्मण पुल के पास कांच के सरफेस

Spread the love

केंद्रीय सड़क निधि के तहत राज्य को इस साल कुल 219 करोड़ का बजट मिलने जा रहा है। इसके तहत सरकार अब प्राथमिकता तय कर रही है। लोनिवि के प्रमुख अभियंता ने बताया कि लक्ष्मणझूला पुल के साथ ही अन्य प्रमुख योजनाओं के प्रस्ताव इस निधि के तहत शामिल किए जा रहे हैं। इस संदर्भ में प्रस्ताव शासन को भेजा गया जिसके लिए 33 करोड़ का बजट भी मांगा गया था। लेकिन अब इस पुल का निर्माण केंद्रीय सड़क निधि के तहत करने का निर्णय लिया गया है। केंद्रीय सड़क निधि के तहत पुल के बनने से इस पुल की भव्यता बढ़ने का अनुमान है। विभाग के सूत्रों ने बताया कि कांच के सरफेस वाले इस पुल को पर्यटन की दृष्टि से और आकर्षक बनाने के प्रयास चल रहे हैं। लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता हरिओम शर्मा ने बताया कि लक्ष्मण झूला पुल का निर्माण केंद्रीय सड़क निधि के तहत करने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए प्रस्ताव भेजा जा रहा है। लक्ष्मणझूला पुल की कुल लम्बाई 150 मीटर होगी और पुराने पुल के समीप ही इस पुल को बनाया जाना है।ऋषिकेश में गंगा नदी के समीप प्रस्तावित नए लक्षणझूला पुल का निर्माण केंद्रीय सड़क निधि के तहत होगा। सरकार ने इस पुल के निर्माण के लिए 66 करोड़ का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजने का निर्णय लिया है।  90 साल पुराने लक्षणझूला पुल को पिछले साल 12 जुलाई को आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया था। सरकार ने इसी पुल के समीप कांच का एक नया पुल बनाने का निर्णय लिया है।ऋषिकेश में गंगा नदी के समीप प्रस्तावित नए लक्षणझूला पुल का निर्माण केंद्रीय सड़क निधि के तहत होगा। सरकार ने इस पुल के निर्माण के लिए 66 करोड़ का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजने का निर्णय लिया है।  90 साल पुराने लक्षणझूला पुल को पिछले साल 12 जुलाई को आवाजाही के लिए बंद कर दिया गया था। सरकार ने इसी पुल के समीप कांच का एक नया पुल बनाने का निर्णय लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *