11 साल बच्ची की बहादुरी ।

Spread the love

11 साल की इस बच्ची की बहादुरी ने बीरोंखाल के इस गांव को सुर्खियों में ला दिया। और तो और राखी के गांव में पंचायत चुनाव का मुख्य मुद्दा भी गुलदार से मुक्ति ही है, क्योंकि इस गांव के लोग अब भी डरे हुए हैं। गुलदार दहशत का सबब नहा हुआ है। पंचायत चुनाव के आखिरी चरण में पौड़ी जिले के पोखड़ा , नैनीडांडा, थलीसैंण, रिखणीखालऔर बीरोंखाल ब्लॉक में चुनाव होने हैं। राखी का गांव देवकुंडई बीरोंखाल ब्लॉक में पड़ता है, जहां आस-पास के 12 से ज्यादा गांवों में गुलदार आतंक का सबब बना हुआ है। यहां के लोग पंचायत चुनाव में उस प्रत्याशी को वोट देना चाहते हैं, जो उन्हें गुलदार के आतंक से मुक्ति दिलाए। इलाके में गुलदार का खतरा लगातार बना हुआ है, लोग दहशत में हैं। राखी के पिता दलवीर सिंह रावत कहते हैं कि गुलदार दिन में ही गांव में आ जाता है, उन्हें अब बच्चों को स्कूल भेजने में डर लगने लगा है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *