डंडों की जोड़ पर सरकार भरेगी,तिजोरी

Spread the love

लाठी व डंडों की जोड़ पर सरकार भरेगी,अपनी खाली तिजोरी ।जिस प्रकार से आयुष शिक्षा मित्र पिछले 20 दिनों से धरना देने को बाध्य हैं,तो वहीं अब आयुष छात्रों ने भूख हड़ताल भी शुरू कर दिया है । इन प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना है कि मौजूदा सरकार माननीय उच्च न्यायालय की आदेश को भी नज़र अंदाज़ कर,वह अपनी मनमानी व जबरन फीस वसूल करना चाहती है । जबकि कोर्ट ने छात्रों के हितों में फैशला सुनाते हूए कहा कि आयुर्वेद कालेज में शिक्षा ग्रहण करने वाले छात्रों से 80 हज़ार रुपये ही लिये जाएं न कि बढ़ाये गए फीस ढाई लाख । आपको बता दूं कि अब यह सरकार की दोहरा चरित्र लोगों के सामने आ गयी है । ये वही सरकार है जो प्रदेश में सत्ता में काबिज़ होने के बाद कई अहम फैशला किया और उनमें से अधिकतर लिए गए फैशले को यह बताया कि यह उच्च न्यायालय का आदेश है। सरकार की इस फैशले मे कोई भी रोल नही है,उन दमनकारी फैशलों में से एक फैशले अतिक्रमण भी है । जिसमें सरकार किसी की एक नही सुनी और कोर्ट का हवाला देकर राजधानी में कई लोगो के रोजगार व आशियाने पर भी बुलडोज़र चलवा दिए । और दलील यह दी कि यह सरकार का फैशला नहीं बल्कि हाईकोर्ट का आदेश है जिसे सरकार निभा रही है । तो आज फिर यही सरकार उसी कोर्ट के आदेश का अवहेलना क्यों कर रही। जबकि माननीय उच्च न्यायालय ने आयुष छात्रों के हित में अपना फैशला सुना चुकी है जिसे मौजूदा सरकार मानने को तैयार नहीं है।  वही दो दिन पूर्व शांतिपूर्ण तरीके से  अनशन कर रहे छात्रों पर पुलिस बल ने जो बर्बरता दिखाई वह अपने आप मे शर्मशार करने जैसा था । धरना स्थल पर देहरादून की मित्र पुलिस उस वक़्त उसे लात घूसों से आयुषमित्रों पर हमला बोल दिया। जब कुछ छात्र कई दिनों से भूख हड़ताल पर बैठ रखे थे । अब इस प्रकरण को देखकर साफ साफ प्रतीत होता है कि सरकार अपनी खाली ख़ज़ाने को भरने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है। श्रमिक मंत्र से स्टोरी हेड,आलोक शर्मा के साथ वीडियो जर्नलिस्ट आलोक शर्मा की रिपोर्ट ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *