मंदिर समिति क्यों है खामोश  

Spread the love

बीस दिन बाद भी मंदिर समिति क्यों है खामोश।     बाबा केदारनाथ  के शीतकालीन गद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर  ऊखीमठ में तीन सितम्बर को 19  ताम्रपत्र  मिलने से बद्री-केदार मंदिर समिति में हड़कंप मच गया है|  इसमें बड़ी बात ये है कि मंदिर समिति के कर्मचारियों ने आज तक मंदिर में इन ताम्रपत्रों को पहले कभी नहीं देखा था. लेकिन मंदिर के अंदर रहस्मयमय ढंग से ताम्रपत्र मिल हैं. मंदिर में बाबा केदार के गद्दी के नीचे, चंडिका मंदिर, ऊषा-अनिरूद्ध विवाह स्थल समेत कई जगहों पर ताम्रपत्र मिले हैं. इस पूरे प्रकरण के बाद मंदिर समिति इन ताम्रपत्रों को बड़ी साजिश बता कर पुरातत्व विभाग से जांच करवाने की बात कर ही है. बताया ये भी जा रहा है की इन सभी ताम्रपत्रों में अष्ट भैरव का विवरण है लेकिन बीस दिन पुरे होने  के बावजूद भी अभी तक कोई ठोस निर्णय मंदिर समिति नहीं ले पायी है साथ ही पुलिस प्रशासन भी अभी तक जाँच पर लगी हुई है। बता दे की ओम्कारेश्वर मंदिर वह स्थल है जहाँ  बाबा केदार छः महीने विराजमान रहते है लेकिन हद तो तब हो गयी जब इतना संदिग्ध मामला होने के बावजूद भी केदारनाथ बद्रीनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल द्वारा एक बार भी ओम्कारेश्वर मंदिर का निरक्षण नहीं किया गया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *