मुख्यमंत्री का  ड्रीम प्रोजेक्ट, सूर्यधार ।

Spread the love

मुख्यमंत्री का ड्रीम प्रोजेक्ट, सूर्यधार झील  ।    
माननीय मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के ड्रीम प्रोजेक्ट सूर्यधार झील का स्थलीय निरीक्षण जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने किया । निरीक्षण के दौरान अधिशासी अभियंता  सिंचाई द्वारा जिलाधिकारी को अवगत कराया गया कि चिर प्रतिक्षित सूर्यधार झील से क्षेत्र के 18 गांव के लोगों को पेयजल सुविधा के साथ ही सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। तथा इस महत्वाकांक्षी योजनाओं से लगभग 35 से 40 हजार की आबादी लाभान्वित होंगी।  जिलाधिकारी को सूर्यधार झील के मैपिंग, ट्रेसिंग , निर्माण के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराई। अधिशासी अभियंता डी० के० सिंह ने बताया कि वर्ष 2018 से सूर्यधार झील का निर्माण कार्य शुरू किया गया,जो अब निर्माण अंतिम चरण में है। इस झील के निर्माण में 50 करोड़ की धनराशि स्वीकृत  हुई है, जिसके सापेक्ष अभी तक 40 करोड़ रू0 की धनराशि प्राप्त हुई है।  

और इस झील में किसी भी प्रकार की कोताही न होने पाए जिसके लिए सूबे के मुखिया त्रिवेंद्र रावत के मुख्य सलाहकार धीरेन्द्र पंवार समय समय पर झील निर्माण का निरक्षण करते रहते है । पंवार ने कहा कि झील निर्माण में तेजी लाने के प्रयास करने पर बल देते बताया कि यह  मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट को तत्परता से समयबद्ध रूप से पूर्ण किया जाय। 

सूर्यधार झील निर्माण से एक ओर जहां क्षेत्रीय वासिदों को शुद्ध पेयजल मुहैया हो सकेगा। वहीं दूसरी और सिंचाई सुविधाएं मिलने से क्षेत्र के काश्तकारों को खेती उत्पादन में लाभ मिलेगा। सूर्यधार झील के स्थलीय निरीक्षण के दौरान राज्यमंत्री करन बोहरा,उप जिलाधिकारी ऋषिकेश  वरूण चैधरी, विशेष कार्यधिकारी माननीय मुख्यमंत्री धीरेन्द्र पंवार,अधिशासी अभियंता सिंचाई डी. के सिंह  उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *