बचपन के दोस्त की हत्या

Spread the love

बचपन के दोस्त की हत्या।
नई दिल्ली,लीलू ने बताया कि वह आरटीवी चलाता था, लेकिन कर्मवीर नाम के पहलवान ने उसे जान से मारने की धमकी दी तो उसने काम बंद कर दिया। उसने सुरक्षा के लिए फेसबुक के जरिये जेल में बंद गांव के ही कुख्यात बदमाश दिनेश कराला से संपर्क किया। दिनेश ने उसे अपने गिरोह में शामिल कर लिया। गोगी से दोस्ती की वजह से दिनेश कराला ने लीलू को यह हत्या करने के लिए कहा था। आरोपी ने ही नितिन और उसके बड़े भाई नवीन की फोटो गोगी को भेजी थी। फिर उसके पास कार सवार युवक पहुंचे, जिनके साथ मिलकर उसने हत्या की वारदात की।दिल्ली के रोहिणी जिले के स्पेशल स्टाफ ने अमन विहार में हुई युवक की हत्या के मामले में उसके बचपन के दोस्त लीलू उर्फ नितिन को बुधवार को गिरफ्तार किया है। आरोपी ने फेसबुक पर बने दोस्त कुख्यात बदमाश दिनेश कराला के कहने पर यह हत्या की थी। पुलिस इस घटना के पीछे जेल में बंद जितेंद्र गोगी गिरोह का हाथ मानकर चल रही है। 2 जुलाई को रामा विहार इलाके में घर से प्लॉट पर जा रहे कार सवार नितिन पर अंधाधुंध फायरिंग कर हत्या कर दी गई थी। पुलिस इसे गैंगवार मानकर चल रही थी। जांच में सामने आया था कि मृतक का बड़ा भाई टिल्लू गिरोह से जुड़ा हुआ है। एसीपी स्पेशल स्टाफ ब्रह्मजीत सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर ईश्वर सिंह की टीम गठित की गई। पुलिस को घटना में शामिल कर मिली, लेकिन वह द्वारका नॉर्थ इलाके से लूटी गई थी। पता चला कि वारदात के तार जेल से जुड़े हुए हैं। एसआई सोमवीर सिंह की टीम को फुटेज खंगालने के क्रम में कराला गांव का लीलू उर्फ नितिन माथुर नजर आया। जेल से जुड़े सूत्रों से मालूम हुआ कि लीलू ने भी फायरिंग की थी। इसके बाद पुलिस ने आरोपी को रोहिणी सेक्टर-24 इलाके से गिरफ्तार कर लिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *