70 अंकों के नुकसान के साथ बंद

Spread the love

70 अंकों के नुकसान के साथ बंद
नई दिल्ली,इसी तरह आईटीसी की हैसियत 13,521 करोड़ बढ़ी और 2,39,821 करोड़ रुपये पर पहुंची। वहीं एचडीएफसी बैंक की 12,460 करोड़ बढ़कर 5,79,554 करोड़ रुपये रही। कोटक महिंद्रा बैंक का बाजार पूंजीकरण 7,707 करोड़ बढ़ा और 2,65,348 करोड़ रुपये हो गया। इस रुख के उलट एचडीएफसी का बाजार मूल्यांकन 11,997 करोड़ घटकर 3,06,601 करोड़ रुपये पर आ गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज के बाजार पूंजीकरण में 10,714 करोड़ की गिरावट आई और यह 11,04,704 करोड़ रुपये पर आ गया। आईसीआईसीआई बैंक की बाजार हैसियत 9,646 करोड़ घटकर 2,26,002 करोड़ रुपये रह गई। जबकि भारती एयरटेल का बाजार मूल्यांकन 6,083 करोड़ की गिरावट के साथ 3,05,675 करोड़ रुपये रहा। सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से छह कंपनियों के बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) में बीते सप्ताह 92,131 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई। सबसे अधिक लाभ में टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज रही। इसके अलावा एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, इन्फोसिस, कोटक महिंद्रा बैंक और आईटीसी के बाजार मूल्यांकन में भी इजाफा हुआ। वहीं दूसरी ओर रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी, भारती एयरटेल और आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण घट गया। समीक्षाधीन सप्ताह में टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 25,723 करोड़ बढ़कर 7,93,855 करोड़ रुपये, इन्फोसिस का 18,105 करोड़ बढ़कर 3,18,649 करोड़ रुपये और हिंदुस्तान यूनिलीवर का 14,614 करोड़ बढ़कर 5,06,199 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।शेयर बाजार आज कमजोरी के साथ खुला और नुकसान के साथ ही बंद हुआ। सोमवार को सेंसेक्स 209 अंकों की गिरावट के साथ 34,961.52 के स्तर पर बंद हुआ तो निफ्टी भी 70 अंक गिरकर 10,312.40 के स्तर पर क्लोज हुआ। वहीं अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया सात पैसे बढ़कर 75.58 (अस्थाई आंकड़ा) रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ, जबकि वैश्विक बाजार में ब्रेंट कच्चे तेल का वायदा भाव 2.15 प्रतिशत गिरकर 40.14 डॉलर प्रति बैरल रह गया।निफ्टी टॉप गेनर में ब्रिटानिया, एचडीएफसी बैंक, सिप्ला, कोटक महिंद्रा बैंक और आईटीसी प्रमुख रहे वहीं कोल इंडिया, एक्सिस बैंक, टेक महिंद्रा, हिंडाल्को और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया टॉप लूजर में शामिल रहे। वहीं अगर सेक्टोरल इंडेक्स की बात करें तो निफ्टी बैंक 1.08, निफ्टी ऑटो 1.27, फाइनेंशियल सर्विसेज 0.52, आईटी 1.51, मीडिया 2.50, मेटल 2.64, पीएसयू बैंक 3.31, प्रइवेट बैंक 1.15, रियलिटी 3.55 और फार्मा 0.02 फीसद के नुकसान के साथ बंद हुए। फायदे में बंद होने वाला इंडेक्स केवल एफएमसीजी रहा, जो 0.72 फीसद ऊपर बंद हुआ।वैश्विक बाजार में अमेरिकी मुद्रा के कमजोर पड़ने और कच्चे तेल के दाम नीचे आने से सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया सात पैसे बढ़कर 75.58 (अस्थाई आंकड़ा) रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। विदेशी मुद्रा डीलरों का कहना है कि घरेलू शेयर बाजारों में गिरावट, विदेशी मुद्रा की निकासी और कोविड-19 के मामलों से बढ़ती चिंता के बीच अमरिकी डॉलर के कमजोर पड़ने से भारतीय मुद्रा को समर्थन मिला और इसमें गिरावट थम गई। अंतर बैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में कारोबार की शुरुआत में रुपया 75.64 रुपये प्रति डॉलर पर स्थिर खुला। कारोबार के दौरान इसमें बढ़त दर्ज की गई और अंत में यह अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 75.58 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ। पिछले बंद भाव के मुकाबले इसमें सात पैसे की वृद्धि रही। गत सप्ताहांत शुक्रवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 75.65 रुपये पर बंद हुआ था। सोमवार को चार घंटे के कारोबारी सत्र के दौरान डॉलर रुपये की विनिमय दर ऊंचे में 75.52 रुपये और नीचे में 75.64 रुपये प्रति डॉलर रही। सेंसेक्स 395 अंकों के नुकसान के साथ 34,777 पर कारोबार कर रहा है तो वहीं निफ्टी 126 अंक लुढ़क कर 10257 के स्तर पर आ गया है। आज शेयर बाजार की शुरुआत गिरावट के साथ हुई। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 244.32 अंकों के नुकसान के साथ 34,926.95 के स्तर पर खुला तो वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का संवेदी सूचकांक निफ्टी भी दिन के कारोबार की शुरुआत लाल निशान से की।वहीं सेंसेक्स में अधिकतर स्टॉक लाल निशान पर खुले, जबकि निफ्टी 50 के 47 शेयर नुकसान के साथ आज कारोबार की शुरुआत की। अगर सेक्टोरल इंडेक्स की बात करें तो बैंक निफ्टी, ऑटो, फाइनेंशियल सर्विसेज, आईटी, मीडिया, मेटल, पीएसयू बैंक, प्राइवेट बैंक, रियलटी में गिरावट का रुख है। वहीं एफएमसीजी और फार्मा, दो ऐसे इंडेक्स हैं, जहां मामूली तेजी नजर आ रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *