संस्था ने बाँटे निशुल्क मास्क व सेनेटाइजर।

Spread the love

सराहनीय पहल :- “विचार एक नई सोच” संस्था ने बाँटे टैक्सी-मैक्सी चालकों को निशुल्क मास्क व सेनेटाइजर ।
विचार एक नई सोच संस्था ने किया सामाजिक दायित्व का निर्वहन।
पौड़ी गढ़वाल। कोरोना वायरस को लेकर जहां देशभर में लोगों में दहशत का माहौल है। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और सूबे की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार के साथ तमाम प्रशासन और संवंधित प्राधिकरण इन दिनों इस महामारी से निपटने को हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। ऐसे में हमारी आपकी भी जिम्मेदारी है कि हम सरकार के तमाम सलाहों का अक्षरशः पालन करें, “लॉक डाउन” में सहयोग करें। जागरूकता फैलाएं। वहीं इस वायरस को रोकने के लिए तमाम तरह के जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं। इस कड़ी में “विचार एक नई सोच” सामाजिक संगठन कोरोना वायरस को लेकर जन जागरण अभियान चला रहा है। उत्तराखंड में कोरोना वायरस के संक्रमण का सबसे बड़ा जोखिम सवारी टैक्सी चलाने वाले चालकों के समक्ष है। बाज़ार में मास्क की उपलब्धता तकरीबन समाप्त हो गयी है। अतः चौखंबा मेडिकोज की घण्डियाल शाखा द्वारा घण्डियाल व कांसखेत के टैक्सी (केवल पैसेंजर) चालकों को निशुल्क मास्क व सेनेटाइजर वितरण करने का फैसला लिया। “विचार एक नई सोच” सामाजिक संगठन व डीआर फार्मा देहरादून व चौखम्बा मेडिकोज ग्रुप के चेयरमैन राकेश बिजल्वाण ने सामाजिक दायित्व के तहत यह फैसला लेते हुए लोगों से दहशतज़दा होने के बजाय सावधानी वरतने की अपील की है। उन्होंने सवारी वाहन चालकों से वाहन चलाते हुए हर समय मास्क पहनने व सेनेटाइजर से हाथ साफ करने की अपील की है। ‘विचार एक नई सोच’ सामाजिक संगठन के संस्थापक राकेश बिजल्वाण के निर्देशन में आज घण्डियाल शाखा के प्रभारी नरेश भारद्वाज एवम उनके सहकर्मियों द्वारा मनियर्सयूं टैक्सी-मैक्सी यूनियन के अध्यक्ष कुलदीप रावत को मास्क भेंट कर सभी चालकों को मास्क वितरण शुरू किया गया। इस मौके पर सोनू एवम विपिन भी मौजूद रहे। साथ ही समूह के औषधि भंडारों में सैनीटाईज़र पर 30 से 40 प्रतिशत की छूट भी दी जा रही है। ग्रुप के मेडिकल स्टोर इस नाजुक मौके पर जनता की सेवा के लिए 24 घंटे खुले रहेंगे।हम “लॉक डाउन” का समर्थन करते हैं और आप ? कोरोना वायरस के कहर से बचाव के लिए एक तरफ जहां जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसकी कड़ी तोड़ने के लिए जनभागीदारी की अपील की है। कोरोना के वैश्विक प्रभाव का हवाला देते हुए देश के नाम संबोधन में उन्होंने कहा कि इसका इलाज फिलहाल सामने नहीं आया है और ऐसे में बचाव ही सबसे बड़ा रास्ता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील का असर पूरे देश में दिखाई देने लगा है। वहीं विचार एक नई सोच सामाजिक संगठन के संस्थापक राकेश बिजल्वाण ने लॉक डाउन को समर्थन देते हुए कहा कि यह एक सार्थक पहल है। जनभागीदारी के द्वारा ही कोराना से बचाव संभव है। राकेश बिजल्वाण ने कहा कि वह अपनी तरफ से लोगों को जागरूक करने के साथ ही मास्क और सैनिटाइजर निशुल्क बांट रहे हैं।
वही फ्यूजन होटल मैनेजमेंट संस्थान देहरादून के निदेशक अरुण चमोली ने कहा कि कोरोना वायरस से बचने के लिए हम सब को जागरुक होना होगा। हम सबको प्रधानमंत्री मोदी की मुहिम का समर्थन करना होगा उनका साथ देना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *